प्यार का महीना आया है


सौंप दो खुद को इश्क़ को
कि प्यार का महीना आ गया हैं
निभा लो प्रीत की रस्म को
कि प्यार का महीना आ गया हैं

होने दो इस जादू भरे जश्न को
कि प्यार का महीना आ गया हैं
झूमने दो मचलते जिस्म को
कि प्यार का महीना आ गया हैं

कह दो नफरतो वाली नस्ल को
कि प्यार का महीना आ गया हैं
क्या पाया है सीमाओ में बांधकर विश्व को
कि प्यार का महीना आ गया हैं

कुरेदो ना पुराने जख्म को
कि प्यार का महीना आ गया हैं
याद करो राधा और कृष्ण को
कि प्यार का महीना आ गया हैं

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s